एशियन चैम्पियनशिप में सरिता, सिमरनजीत, अमित व थापा से उम्मीदें

बैंकॉक : छह बार की विश्व चैम्पियन मैरी कॉम शुक्रवार से यहां शुरू हो रही एशियन मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में नहीं खेल रही हैं। उनकी गैरमौजूदगी में अनुभवी सरिता देवी, युवा सिमरनजीत कौर तथा लवलिना बोरगोहिन पर सभी की नजरें होंगी। मैरी कॉम वर्ल्ड चैम्पियनशिप में 51 किलोग्राम भारवर्ग में हिस्सा लेंगी। इस वजह से वह एशियन चैम्पियनशिप में नहीं खेल रही हैं। मैरी कॉम एशियाई चैम्पियनशिप में स्वर्ण जीतने वाली भारत की इकलौती महिला मुक्केबाज हैं। उन्होंने 2017 में वियतनाम में स्वर्ण पदक जीता था। पुरुष वर्ग में भारत की पदक की उम्मीद एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता अमित पंघल और शिव थाप से है। महिला वर्ग में सिमरनजीत कौर 64 किलोग्राम भारवर्ग में हिस्सा लेंगी। लवलिना 69 किलोग्राम भारवर्ग में एशिया की दिग्गज मुक्केबाजों को चुनौती पेश करेंगी। सरिता 60 किलोग्राम भारवर्ग में भारत की स्वर्णिम उम्मीदें लेकर उतरेंगी। इन तीनों के अलावा हाल ही में कोलोन में आयोजित विश्व कप में स्वर्ण जीतने वाली मीना कुमार से भी भारत को काफी उम्मीदें होगी। यह खिलाड़ी शानदार फॉर्म में हैं और 54 किलोग्राम भारवर्ग में भारत की अच्छी मुक्केबाज मानी जाती हैं। इसी विश्व कप में साक्षी 57 किलोग्राम भारवर्ग में और पिलाओ बासुमात्री 64 किलोग्राम में स्वर्ण से चूक गई थीं। यह दोनों भी एशियाई चैम्पियनशिप में पदक की दावेदार के रूप में उतरेंगी। वहीं 81 प्लस किलोग्राम भारवर्ग से ज्यादा में भारत की दो अनुभवी मुक्केबाज सीमा पूनिया और कविता चहल पर भी सभी की नजरें होंगी। पुरुषों की बात की जाए तो अमित 52 किलोग्राम भारवर्ग में इस टूर्नामेंट से पदार्पण कर रहे हैं। इससे पहले अमित 49 किलोग्राम भारवर्ग में खेलते थे। वहीं थापा की नजरें रिकार्ड चौथे पदक पर होंगी। थापा ने एशियन चैम्पियनशिप-2013 में स्वर्ण, 2015 में कांस्य और 2017 में रजत पदक अपने नाम किया था। पुरुषों में इनके अलावा 49 किलोग्राम भारवर्ग में दीपक सिंह से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद होगी। उन्होंने हाल ही में माकरान कप में स्वर्ण पदक जीत अपनी प्रतिभा दशाई है। जीबी टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक जीतने वाले कविंदर सिंह बिष्ट 56 किलोग्राम भारवर्ग में टीम का प्रतिनिधित्व करेंगे। टूर्नामेंट में भारतीय खिलाडिय़ों के मुकाबले 19 तारीख से शुरू होंगे।
महिला टीम : नीतू, मंजू रानी ( 48 किग्रा), निकहत जरीन, पिंकी रानी ( 51 किग्रा), मनीषा, मीनाकुमारी (54 किग्रा), सोनिया चहल, साक्षी (57 किग्रा), सरिता देवी, परवीन (60 किग्रा), सिमरनजीत कौर, पिलाओ बासुमात्री (64 किग्रा), लवलिना बोरगोहिन, अंजलि तुशीर (69 किग्रा), नूपुर, पूजा ( 75 किग्रा), पूजा रानी, नंदिनी ( 81 किग्रा), सीमा पूनिया, कविता चहल (81 प्लस किग्रा)।
पुरुष टीम : दीपक (49 किग्रा), अमित पंघाल (52 किग्रा), कविंदर सिंह बिष्ट (56 किग्रा), शिवा थापा (60 किग्रा), रोहित टोकस (64 किग्रा), आशीष (69 किग्रा), आशीष कुमार (75 किग्रा), बृजेश यादव (81 किग्रा), नमन तंवर (91 किग्रा), सतीश कुमार (91 प्लस किग्रा)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *