समाजवादी पार्टी ने दो सीटों पर घोषित किए अपने उम्मीदवार…

लखनऊ । उत्तर प्रदेश में 11 विधानसभा क्षेत्र में होने वाले उप चुनाव में समाजवादी पार्टी भी अपने तगड़े प्रत्याशी उतार रही है। लोकसभा चुनाव 2019 में बहुजन समाज पार्टी के साथ गठबंधन करने वाली समाजवादी पार्टी विधानसभा उप चुनाव में अकेले उतर रही है।

समाजवादी पार्टी ने शुक्रवार को अपने दो प्रत्याशियों के नाम की घोषणा की है। लखनऊ कैंट से पार्टी ने मेजर आशीष चतुर्वेदी को उतारा है। कानपुर के गोविंद नगर से सम्राट विकास को पार्टी ने टिकट दिया है। 2017 में लखनऊ कैंट से समाजवादी पार्टी की प्रत्याशी मुलायम सिंह यादव की छोटी बहु अपर्णा यादव थीं। समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने विधानसभा चुनाव 2017 में पार्टी के सिर्फ तीन प्रत्याशियों के पक्ष में चुनाव प्रचार किया था। इनमें लखनऊ कैंट से अपर्णा यादव, इटावा के जसवंतनगर से शिवपाल सिंह यादव तथा जौनपुर के मल्हनी से पारसनाथ यादव के पक्ष में मुलायम सिंह यादव ने कई जनसभा की थी।

लखनऊ कैंट से पार्टी ने मेजर आशीष चतुर्वेदी को उतारा है। मुलायम सिंह यादव के छोटे पुत्र प्रतीक यादव की पत्नी अपर्णा को भाजपा की डॉ. रीता बहुगुणा जोशी से हार झेलने पड़ी। प्रयागराज से सांसद डॉ. रीता बहुगुणा जोशी को प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री बनाया गया था। उनके सांसद बनने के बाद इस्तीफा देने से खाली सीट लखनऊ कैंट से कांग्रेस तथा बसपा के प्रत्याशियों ने गुरुवार को अपना नामांकन भी कर दिया है जबकि भाजपा ने अभी प्रत्याशी घोषित नहीं किया है।

कानपुर की गोविंद नगर विधानसभा सीट योगी आदित्यनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री सत्यदेव पचौरी के इस्तीफा देने से खाली हुई है। पचौरी लोकसभा चुनाव 2019 में कानपुर से भाजपा के सांसद चुने गए हैं। पचौरी ने 2017 में कांग्रेस के अम्बुज शुक्ला को हराकर गोविंदनगर विधानसभा से जीत दर्ज की थी। बसपा के निर्मल तिवारी तीसरे स्थान पर थे। 2017 में सपा व कांग्रेस का विधानसभा चुनाव में गठबंधन था। इस बार सपा, बसपा तथा कांग्रेस अकेले मैदान में हैं। कांग्रेस ने यहां से करिश्मा ठाकुर को मैदान में उतारा है तो बसपा ने देवी प्रसाद तिवारी को अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *