शाह ने कहा मारे गए 250 आतंकी, चिदंबरम ने पूछा- किसने बताई संख्या?

नई दिल्ली। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार को कहा कि भारतीय वायुसेना द्वारा पुलवामा आतंकी हमले के 13वें दिन की गई एयर स्ट्राइक में 250 आतंकी मारे गए हैं।लक्ष्य जीतो कार्यक्रम को संबोधित करते हुए शाह ने पिछले पांच सालों में आतंक पर किए गए दो स्ट्राइक को लेकर बात की। उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार ने कैसे आतंक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की।

शाह ने कहा, ‘पांच सालों में दो बड़ी घटनाएं उरी और पुलवामा में हुईं। उरी हमले के बाद हमारी सेना पाकिस्तान में घुसी और सर्जिकल स्ट्राइक की और हमारे जवानों की मौत का बदला लिया। पुलवामा हमले के बाद हर किसी ने यही सोचा कि इस बार सर्जिकल स्ट्राइक नहीं की जा सकेगी। तो अब क्या होगा?

इस बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने 13वें दिन एयर स्ट्राइक (हवाई हमला) की और 250 आतंकियों को मार गिराया वो भी हमें बिना कोई नुकसान पहुंचे।’

विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान को लेकर भी शाह ने टिप्पणी दी। उन्होंने कहा जब अभिनंदन को पाकिस्तान में पकड़ा गया तो सभी लोग आलोचना करने लगे थे लेकिन युद्ध है तो जवान पकड़ा भी जा सकता है। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी की सरकार का ऐसा प्रभाव था कि विश्व में इतनी जल्दी कोई युद्ध कैदी अगर वापस आया है तो वह अभिनंदन है।

28 फरवरी को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सरकार से पूछा था कि वह एयर स्ट्राइक के स्थान की सटीक जानकारी दें और बताए कि कितने लोग मारे गए हैं। उनका कहना था कि अतंरराष्ट्रीय मीडिया का दावा है कि स्ट्राइक में कोई नुकसान नहीं हुआ है।

वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने सोमवार को कहा कि भारत के एक गौरवान्वित नागरिक के तौर पर उन्हें पाकिस्तान के बालाकोट स्थित आतंकी शिविर पर की गई वायुसेना की करवाई पर पूरा विश्वास है, लेकिन वहां 300-350 लोगों के मारे जाने की यह संख्या किसने बताई है। उन्होंने यह भी कहा कि पूरी दुनिया वायुसेना के इस अभियान पर यकीन करे, इस बारे में सरकार को प्रयास करने चाहिए।

चिदंबरम ने ट्वीट कर कहा, ‘वायुसेना की कार्रवाई के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सबसे पहले वायुसेना को सलाम किया। मोदी जी यह क्यों भूल जाते हैं?’ उन्होंने कहा, ‘वायुसेना के वायस एयर मार्शल ने कार्रवाई में मारे गए लोगों की संख्या के बारे में टिप्पणी करने से इनकार किया। विदेश मंत्रालय के बयान में कहा गया कि कोई आम व्यक्ति और सैनिक हताहत नहीं हुआ। फिर किसने मारे गए लोगों की संख्या 300-350 बताई?’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *