न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न ने मुस्लिम समुदाय के साथ एकजुटता दर्शाते हुए कहा कि….

क्राइस्टचर्च की दो मस्जिदों में हुई गोलीबारी की घटना में 49 लोगों के मारे जाने के एक दिन बाद शनिवार को न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न ने मुस्लिम समुदाय के साथ एकजुटता दर्शाते हुए कहा कि “यह वह न्यूजीलैंड नहीं है जिसे लोग जानते हैं।”

उन्होंने क्राइस्टचर्च कैंटरबरी रिफ्यूजी सेंटर में अपने 40 मिनट के संबोधन के दौरान यह टिप्पणी की जहां उन्होंने शुक्रवार के खूनी नरसंहार से सबसे ज्यादा प्रभावित देश के इस्लामिक समुदाय को एकता का संदेश दिया। शुक्रवार को बंदूकधारियों ने दो मस्जिदों में अंधाधुंध गोलीबारी की।

काले रंग की सलवार-कमीज पहने और सिर पर दुपट्टा ढके जेसिंडा ने मौजूद मीडिया और मुस्लिम नेताओं से कहा, “आपने तत्काल इस बात का उल्लेख किया कि यह वह न्यूजीलैंड नहीं है जिसे आप जानते हैं। मैं इस बात को आज फिर से दोहराना चाहती हूं। यह न्यूजीलैंड नहीं है”

उन्होंने कहा, “मस्जिद से शवों को निकालने का काम अब भी जारी है। आपातकालीन सेवाएं अभी भी डीन्स एवेन्यू मस्जिद से शवों को निकाल रही हैं जहां शुक्रवार को 41 लोग मारे गए थे।”

प्रधानमंत्री ने उम्मीद जताई कि शनिवार तक सभी शव वहां से निकाल लिए जाएंगे।

जेसिंडा ने ऐलान किया कि अपने प्रियजनों को खोने वाले परिवारों को मुआवजा दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि पूरे न्यूजीलैंड की मस्जिदों में पुलिस सुरक्षा जब तक जारी रहेगी जब तक कि यह सुनिश्चित नहीं हो जाता कि खतरा टल गया है।

क्राइस्ट चर्च में हुए हमले के आरोपी आस्ट्रेलियाई शख्स के खिलाफ और आरोप भी लगाए जाएंगे। 28 वर्षीय आरोपी शनिवार सुबह अदालत के समक्ष पेश हुआ और उस पर हत्या का मामला दर्ज किया गया।

टेलीविजन न्यूजीलैंड (टीवीएनजेड)के मुताबिक, प्रधानमंत्री ने उप प्रधानमंत्री विंस्टन पीटर्स और विपक्षी नेशनल पार्टी के नेता साइमन ब्रिजेस के साथ सेंटर का दौरा किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *