दिल्ली-NCR में हाई अलर्ट; नोएडा में अफवाह फैलाने वाले 2 गिरफ्तार

अयोध्या मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने शनिवार अपना एतिहासिक फैसला सुनाया है। इसके तहत विवादित जमीन पर मंदिर निर्माण करने और मुस्लिमों को मस्जिद के लिए वैकल्पिक जगह के आदेश दिए गए हैं। इस पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने प्रतिक्रिया में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है।

उन्होंने ट्वीट किया है- ‘सभी पक्षों की दलीलें सुनने के बाद SC की बेंच के पांचों जजों ने एकमत से शनिवार को अपना निर्णय दिया। हम SC के फ़ैसले का स्वागत करते हैं। कई दशकों के विवाद पर आज SC ने निर्णय दिया। वर्षों पुराना विवाद आज ख़त्म हुआ। मेरी सभी लोगों से अपील है कि शांति एवं सौहार्द्र बनाए रखें।’

वहीं, सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद नोएडा शहर में माहौल खराब करने के लिए अफवाह फैलाने के आरोप में नव निर्माण सेना के अध्यक्ष अमित जानी व एक युवक हेमंत चौधरी को गिरफ्तार किया गया है। दोनों को पुलिस ने जेल भेज दिया है। एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि अमित जानी को सतर्कतावश गिरफ्तार किया गया है,जबकि हेमंत चौधरी ने डायल 100 पर फोन करके अफवाह फैलाई थी।

ग्रेटर नोएडा में रबूपुरा स्थित जामा मस्जिद के इमाम मोहम्मद इश्तियाक नैयर का कहना है कि हम सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हुए सभी क्षेत्रवासियों से देश में अमन शांति व सौहार्द्र की अपील करते हैं हम सभी भारत के निवासी हैं सदियों से मिलजुल कर रहते आए हैं, आगे भी सभी धर्मों के लोग मिलजुल कर रहेंगे।
दिल्ली से सटे यूपी के साहिबाबाद में अयोध्या फैसला के मद्देनजर वसुंधरा में पुलिस टीम ने मार्च किया।
हापुड़ में पुलिस ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की।
दिल्ली-एनसीआर में सुरक्षाबलों ने जहां संवेदनशील क्षेत्रों में मोर्चा संभालकर गश्त शुरू कर दी है।
दिल्ली पुलिस ने सभी जिलों में पुलिस अधिकारियों को अलर्ट रहने के निर्देश दिए हैं।
किसी तरह की गड़बड़ी करने वालों से सख्ती से निपटने का कहा गया है।
सुप्रीम कोर्ट के बाहर सुरक्षा मुस्तैदी से अपनी जिम्मेदारी बढ़ा रहे हैं
पूरी दिल्ली में धारा- 144 लागू है

दिल्ली के सभी स्कूल बंद हैं
दिल्ली से सटे यूपी के नोएडा, गाजियाबाद, मेरठ में स्कूल बंद हैं

अनिल मित्तल (एसपी, अतिरिक्त जनसंपर्क अधिकारी, दिल्ली पुलिस) के मुताबिक, राममंदिर पर फैसले के मद्देनजर राजधानी की सुरक्षा व्यवस्था को चाक चौबंद कर दिया गया है। किसी भी तरह की गड़बड़ी करने की कोशिश करने वालों से पुलिसबल सख्ती से निपटेगा।
दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, राममंदिर को लेकर सुप्रीम कोर्ट में चल रही सुनवाई का फैसला शनिवार को आएगा। ऐसे में मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए एहतियातन दिल्ली की सुरक्षा को कड़ा कर दिया गया है। पुलिस अधिकारियों को संवेदनशील क्षेत्रों में लगातार गश्त करने के निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा सुरक्षा व्यवस्था की दृष्टि से संवेदनशील स्थानों पर सुरक्षा बलों की तैनाती की गई है। धारा 144 के दौरान किसी को भी समूह के रूप में एकत्र होने की इजाजत नहीं होगी। सभी एसएचओ और डीसीपी को निर्देश दिए गए हैं कि उनके क्षेत्र में जो भी संवेदनशील स्थान हैं, वहां पर पुलिसकर्मियों की संख्या बढ़ा दी जाए। इसके साथ ही क्षेत्र के गणमान्य लोगों से संपर्क में रहकर लोगों को जागरूक किया जाए। साथ ही फैसला आने के बाद दोनों पक्षों के प्रभावशाली लोगों के माध्यम से शांति और सौहार्द सुनिश्चित किया जाए। इस बीच धार्मिक स्थलों के आसपास सुरक्षा के विशेष इंतजाम किए गए हैं। वहीं अमन कमेटी के पदाधिकारियों के साथ बैठक करने के साथ ही ऐसे लोगों पर नजर रखने को कहा गया है, जो लोग माहौल को बिगाड़ सकते हैं।

संदिग्धों की धरपकड़ को जांच

दिल्ली पुलिस संदिग्धों की धरपकड़ को जगह-जगह बैरिकेडिंग लगा वाहनों की जांच करेगी। साथ ही पुलिस की टीमें लगातार गश्त करेंगी। बॉर्डर इलाके में भी पुलिस को चौकस रहने के निर्देश दिए गए हैं।

वरिष्ठ अधिकारियों की रहेगी नजर

राजधानी की सुरक्षा व्यवस्था पर पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों की लगातार नजर रहेगी। यही नहीं अधिकारी खुद भी संवेदनशील क्षेत्रों में गश्त करेंगे। किसी भी प्रकार की गड़बड़ी की सूचना पर स्थानीय पुलिस के साथ ही रिजर्व पुलिस बल तत्काल भेजने की व्यवस्था की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *