दिल्ली में पानी की गुणवत्ता पर जगह-जगह लगे केजरीवाल के खिलाफ होर्डिंग

नई दिल्ली । दिल्ली जल बोर्ड के पानी की गुणवत्ता पर भारतीय मानक ब्यूरो (बीआइएस) की रिपोर्ट के बाद राजनीति तेज हो गई है। दिल्ली के आरटीओ इलाके में बृहस्पतिवार को ‘दिल्ली जलबोर्ड के अध्यक्ष जवाब दें’ के होर्डिंग देखे गए। होर्डिंग में लिखा गया है कि दिल्ली जल बोर्ड के अध्यक्ष जवाब दें, ‘ दिल्ली में पानी साफ है तो 21,88,253 डायरिया के मामले दिल्ली में पिछले चार साल में कहां से आए। कॉलरा के 19283 केस अस्पतालों में कैसे आए। 36426 पानी से जुड़ी शिकायतें साल 2018 में कैसे आयी’।

बता दें कि दिल्ली जल बोर्ड के अध्यक्ष मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल हैं। जबकि आप विधायक दिनेश मोहनिया इसके उपाध्यक्ष हैं। दिल्ली जल बोर्ड का अध्यक्ष होने के नाते मुख्यमंत्री की तस्वीर पोस्टर में लगाई गई है।

सड़कों पर लगे होर्डिंग को किसने लगाया है अभी इसकी जानकारी नहीं मिल पायी है। हालांकि यह पोस्टर दिल्ली की सियासत में चर्चा का विषय जरुर बन गया है।

बता दें कि अभी हाल में ही केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने देश के प्रमुख शहरों में पानी की गुणवत्ता पर आधारित भारतीय मानक ब्यूरो (बीआइएस) की रिपोर्ट को पेश किया था। इस रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली जल बोर्ड का पानी पीने योग्य नहीं है। इसी रिपोर्ट के बाद कांग्रेस और भाजपा दिल्ली सरकार पर लगातार निशाना साध रहे हैं।

मनोज तिवारी ने कहा, पानी के नमूने लेने साथ चलें मुख्यमंत्री

उधर, दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने दूषित जल को लेकर मुख्यमंत्री केजरीवाल को पत्र लिखा है। उन्होंने मुख्यमंत्री को साथ में चलकर पूरी दिल्ली से पानी के नमूने एकत्रित करने और उसकी किसी भी प्रयोगशाला में जांच कराने की चुनौती दी है। उनका कहना है कि भारतीय मानक ब्यूरो की रिपोर्ट में राजधानी के विभिन्न क्षेत्रों से लिए गए पानी के सभी नमूने फेल हो गए हैं, जिससे लोगों को अपने स्वास्थ्य की चिंता सताने लगी है।

मनोज तिवारी ने कहा कि दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष दिनेश मोहनिया के क्षेत्र संगम विहार में 500 से एक हजार रुपये में पानी के टैंकर का पानी बेचा जा रहा है। इसकी जांच होनी चाहिए, क्योंकि दूषित जल आपूर्ति के साथ ही टैंकर माफिया भी राजधानी में सक्रिय हैं, जिसे रोकने के लिए कोई कदम नहीं उठाया जा रहा है। उन्होंने पत्र में लिखा है कि सूचना के अधिकार के तहत मिली जानकारी के अनुसार चार वर्षो में राजधानी में 21 लाख लोग पानी से होने वाली बीमारी से पीड़ित हुए हैं। लोग शिकायत कर रहे हैं कि उनके घर में गंदा व बदबूदार पानी की आपूर्ति हो रही है।

उन्होंने कहा कि केंद्रीय खाद्य आपूर्ति मंत्री राम विलास पासवान की अगुवाई में गठित टीम पूरी दिल्ली से पानी के नमूने लेने को तैयार है। उत्तर-पूर्वी दिल्ली के सांसद होने के साथ वह भी इस टीम के साथ पानी के नमूने लेने के लिए जाएंगे। टीम के साथ दिल्ली सरकार अपने अधिकारियों को भी भेजे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *