बॉडी शेमिंग पर रोक चाहती हैं मिशन मंगल की ऐक्ट्रेस निथ्या मेनन

मुम्बई : मल्टीस्टारर फिल्म ‘मिशन मंगल’ से बॉलिवुड में डेब्यू करने जा रहीं दक्षिण भारतीय ऐक्ट्रेस निथ्या मेनन का कहना है कि ऐक्टर्स से मांग की जाती है कि वह हमेशा सुदंर दिखें, लेकिन यह मांग अव्यावहारिक होने के साथ-साथ गलत भी है और इस बॉडी शेमिंग पर रोक लगनी चाहिए। हालांकि तथाकथित परफेक्ट चेहरा और फिगर की मांग दक्षिण की अपेक्षा बॉलिवुड में ज्यादा है, इस बारे में निथ्या की प्रतिक्रिया के बारे में पूछा गया तो उन्होंने मीडिया से कहा, ‘मेरा मानना है कि लोगों के लिए यह जरूरी है कि वे खूबसूरती के विभिन्न प्रकारों की सराहना करें। हर एक व्यक्ति अलग दिखता है और यही खूबसूरती है। यह बेहद नकारात्मक है जब लोग कहते हैं, ‘तुम्हारी नाक परफेक्ट नहीं है, इसे ठीक करवाओ।’
निथ्या ने आगे कहा, ‘हम एक निश्चित रूप में पैदा हुए हैं और हमें इस पर खुश होना चाहिए। इसकी शुरुआत बचपन से ही की जानी चाहिए और कभी किसी की शारीरिक कद-काठी की निंदा नहीं करनी चाहिए।’ निथ्या के मुताबिक, ‘मुझे पता है कि लोग बच्चों से उनकी त्वचा की रंगत के बारे में बात करते हैं। कभी बच्चों को ‘मोटू’ इत्यादि कहकर बुलाया जाता है। इसे तभी रोकना चाहिए। सोशल मीडिया पर काफी ट्रोलिंग होती है, जो कि बेहद निर्मम है! लोग कलाकारों से अवास्तविक सुंदरता की अपेक्षा रखते हैं।’
इससे पहले बॉडी शेमिंग के बारे में बात करते हुए निथ्या की को-स्टार विद्या बालन भावुक हो गई थीं। विद्या बालन, भूमि पेडनेकर, सोनाक्षी सिन्हा और सारा अली खान जैसी कई अभिनेत्रियां हैं जिन्हें उनके शारीरिक वजन के चलते कई आलोचनाओं का सामना करना पड़ा। अपनी आगामी फिल्म ‘मिशन मंगल’ में निथ्या एक महिला वैज्ञानिक का किरदार निभा रही हैं। इसमें उनके साथ विद्या बालन, तापसी पन्नू, कीर्ति कुल्हारी, सोनाक्षी सिन्हा और अक्षय कुमार हैं। ‘मिशन मंगल’ की कहानी भारत के मार्स ऑर्बिटर मिशन पर आधारित है। इसके निर्देशक जगन शक्ति हैं और यह फिल्म 15 अगस्त को रिलीज होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *