IND vs NZ: इस खिलाड़ी की बराबरी करने उतरेंगे कोहली; धोनी को पीछे छोड़ने का भी है मौका


नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम जब शुक्रवार को वेलिंगटन के मैदान पर उतरेगी तो कप्तान विराट कोहली के पास सौरव गांगुली, एमएस धोनी, सुनील गावस्कर, मोहम्मद अजहरुद्दीन जैसे दिग्गजों को पीछे छोड़ने का मौका होगा. भारत और न्यूजीलैंड के बीच पहला टेस्ट मैच वेलिंगटन (Wellington Test) में खेला जाना है. भारत को इस मैदान पर आखिरी जीत 52 साल पहले मिली थी. विराट कोहली की टीम पर जीत का यह सूखा खत्म करने का जिम्मा है.

वेलिंगटन के बेसिन रिजर्व स्टेडियम में 1930 से टेस्ट मैच खेले जा रहे हैं. भारतीय टीम (Team India) ने यहां सात टेस्ट मैच खेले हैं. उसने यहां पहला टेस्ट 1968 में खेला और इसे जीता भी था. इसके बाद उसे यहां टेस्ट मैच में जीत नहीं मिली है. कोहली इस मैदान पर कप्तानी करने वाले सातवें भारतीय होंगे. उनसे पहले यहां मंसूर अली खान पटौदी (Mansur Ali Khan Pataudi), बिशन सिंह बेदी, सुनील गावस्कर, मोहम्मद अजहरुद्दीन, सौरव गांगुली और एमएस धोनी कप्तानी कर चुके हैं.

भारतीय टीम ने 1968 में खेले गए टेस्ट मैच में न्यूजीलैंड को 186 और 199 रन पर समेट दिया था. मेहमान टीम ने मैच में पहली पारी में 327 और दूसरी पारी में 59/2 रन बनाकर जीत दर्ज की थी. भारतीय जीत के हीरो ऑफ स्पिनर इरापल्ली प्रसन्ना और अजित वाडेकर रहे थे. उन्होंने इस मैच में पहली पारी में पांच और दूसरी पारी में तीन विकेट झटके थे. अजित वाडेकर ने 143 रन की पारी खेली थी. इस मैच में भारतीय टीम के कप्तान नवाब पटौदी थे, जिन्हें टाइगर पटौदी भी कहा जाता था.

न्यूजीलैंड और भारत (New Zealand vs India) के बीच वेलिंगटन में इसके बाद 1976, 1981, 1998 और 2002 में टेस्ट मैच खेले गए. इनमें क्रमश: बिशन सिंह बेदी, सुनील गावस्कर, मोहम्मद अजहरुद्दीन और सौरव गांगुली ने कप्तानी की. ये चारों ही कप्तान भारत को वेलिंगटन में टेस्ट मैच नहीं जिता सके. न्यूजीलैंड ने ये चारों ही मैच जीते. इसके बाद महेंद्र सिंह धोनी ने यहां 2009 और 2014 में कप्तानी की. धोनी की कप्तानी वाले इन दोनों ही मैचों में भारत ना तो जीता और ना ही हारा. ये दोनों टेस्ट ड्रॉ रहे.

इस तरह अब विराट कोहली के पास बतौर कप्तान नवाब पटौदी की बराबरी का मौका है, जिन्होंने भारत को वेलिंगटन में पहली और एकमात्र जीत दिलाई है. अगर भारत यहां टेस्ट मैच जीतता है तो विराट ऐसे दूसरे भारतीय कप्तान बन जाएंगे, जिनकी टीम ने यहां जीत दर्ज की होगी.

विराट के पास इस मैच में बतौर कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन की बराबरी का मौका भी है. अजहर एकमात्र भारतीय हैं, जिन्होंने बतौर कप्तान वेलिंगटन में टेस्ट शतक लगाया है. विराट मौजूदा क्रिकेटरों में सबसे अधिक शतक लगाने वाले बल्लेबाज हैं. वे 70 इंटरनेशनल शतक लगा चुके हैं. अगर वे यहां शतक बनाते हैं, तो बतौर कप्तान अजहर के शतक बनाने के रिकॉर्ड की बराबरी करेंगे.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *