विश्व कप जीतने के बाद पहली बार इंग्लैंड के कप्तान ने जताया अफसोस, बताई ये वजह


लंदन: इस साल विश्व कप ( World Cup 2019) का फाइनल में दुनिया को कोई नया विजेता मिलने वाला था. इंग्लैंड की टीम चौथी बार और न्यूजीलैंड की टीम दूसरी बार विश्व कप के खिताब के लिए जोर आजमाइश कर रही थी. मैच हुआ और दो बार टाई हुआ, लेकिन विजेता किसी को तो बनना ही था, सो एक ही विजेता बना. पहले मैच टाई होने के बाद सुपर ओवर भी टाई हो गया तो इंग्लैंड की टीम को बाउंड्री काउंट के आधार पर मैच का विजेता घोषित कर दिया गया. इस बात खूब विवाद भी हुआ. क्रिकेट की दुनिया में बहस छिड़ गई कि न्यूजीलैंड के साथ अन्याय हुआ. बाउंड्री काउंट नियम की खूब फजीहत हुई. फाइनल के 5 दिन बाद इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन ने माना जिस तरह से विश्व कप-2019 का समापन हुआ वो उचित नहीं था.

क्यों हो रही है बाउंड्री काउंट नियम की आलोचना
फाइनल में निर्धारित 50 ओवरों में दोनों ही टीमों ने 241 रन बनाए थे जिससे मैच टाई और उसके बाद सुपर ओवर में दोनों ही टीम 15-15 रन बना पाई. इसके बाद से बाउंड्री काउंट की इस आधार पर आलोचना की गई कि कोई भी टीम मैच से पहले और दौरान यह सोच कर नहीं खेलती कि उसे ज्यादा से ज्यादा बाउंड्री लगानी है. मैच में अंत तक रोमांच बना रहा. चूंकि फैसला नजदीकी रहा इस लिए आखिरी ओवर के उस ओवरथ्रो पर भी जमकर बहस हुई जिसमें इंग्लैंड को एक अतिरिक्त रन दे दिया गया था. यहां अंपायरों की अनदेखी की भी खूब आलोचना हुई.

क्या कहा मोर्गन ने
मॉर्गन ने कहा, “मैं नहीं समझता कि दोनों टीमों के बीच बहुत कम अंतर होने के बाद उस तरह से खिताब का फैसला करना उचित था. मैं नहीं समझता कि ऐसा एक पल था कि आप कह सकते हैं कि उसकी वजह से मैच में हार झेलनी पड़ी. मुकबला बराबर का था.” मोर्गन ने कहा, “मैं वहां था और मैं जानता हूं कि क्या हुआ. लेकिन मैं ऊंगली उठाकर यह नहीं बता सकता कि कहां मैच जीता या हारा गया. मैं नहीं समझता कि विजेता बनने से यह आसान हो गया है. जाहिर तौर पर हार झेलना बहुत कठिन होता.” उन्होंने कहा, “मैच में कोई एक ऐसा पल नहीं था कि हम कहते कि ‘हां हम जीत के हकदार हैं’. मैच बहुत रोमांचक रहा.”

सयुंक्त विजेता क्यों नहीं
जल्द ही इस बात की राय भी बनने लगी कि दोनों ही टीमों को संयुक्त विजेता घोषित कर देना चाहिए. इस बात पर बड़ी तादात में सवाल उठे कि ऐसा क्यों नहीं हो सकता था. ये बहस अब भी जारी हैं. वहीं अब इंग्लैंड की टीम अगस्त में आस्ट्रेलिया के खिलाफ प्रतिष्ठित एशेज सीरीज खेलेगी. टीम का ध्यान इसी सीरीज पर लग गया है. इंग्लैंड की टीम की घोषणा भी हो चुकी है. इंग्लैंड की टीम में अब इस सीरीज को लेकर काफी उत्साह है. टीम अब एशेज को वापस लेने की तैयारियों में जुट गई है.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *