जानिए किस कारण रद्द हुआ बांग्लादेश न्यूजीलैंड तीसरा टेस्ट मैच

न्यूजीलैंड में आतंकवादी हमले के बाद क्राइस्टचर्च टेस्ट मैच रद्द कर दिया गया है। शुक्रवार को हुए इस हमले में कम से कम 27 लोगों की मौत की संभावना जताई गई है।घटना की गंभीरता को देखते हुए न्यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड (एनजेडसी) ने बांग्लादेश से होने वाला तीसरा टेस्ट मैच व सीरीज भी रद्द कर दी। यह मैच मेजबान शनिवार (16 मार्च) से खेला जाना था। यह बांग्लादेश की टीम का न्यूजीलैंड दौरे पर आखिरी मैच भी होता। वह इस दौरे पर वनडे सीरीज के बाद दोनों टेस्ट मैच भी पराजय चुकी है।

न्यूजीलैंड में क्राइस्टचर्च की दो मस्जिदों में शुक्रवार को आतंकवादियों ने अंधाधुंध गोलीबारी की। बांग्लादेशी क्रिकेट टीम के सदस्य इस हमले में बाल-बाल बच गए। दरअसल, ये खिलाड़ी नमाज अता करने के लिए अल नूर मस्जिद में प्रवेश करने ही वाले थे कि गोलीबारी प्रारम्भ हो गई। इससे बांग्लादेशी क्रिकेटर भागकर जान बचाने में सफल रहे। ‘द न्यूजीलैंड हेराल्ड’ की रिपोर्ट के अनुसार, गोलीबारी अल नूर मस्जिद व लिनवुड मस्जिद में हुई। जब हमला हुआ, तब वहां करीब 400 लोग मौजूद थे।

स्थानीय मीडिया के अनुसार, जिस वक्‍त यह घटना हुई, टीम को बस से उतरने से रोक दिया गया। बांग्‍लादेशी क्रिकेटरों के गोलीबारी के वक्‍त अपनी जान बचाकर भागने का वीडियो भी सोशल मीडिया पर सामने आया है। इस बीच न्यूजीलैंड क्रिकेट (एनजेडसी) ने ट्विटर हैंडल से लिखा है कि उसने बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (बीसीबी) के साथ मिलकर तीसरा टेस्ट मैच रद्द करने का फैसला लिया है।
बांग्लादेशी क्रिकेटर मुशफिकुर रहीम ने ट्वीट किया, ‘जब क्राइस्टचर्च में मस्जिद में गोलीबारी हो रही थी, तब हम उसके करीब ही थी। हम बेहद खुशकिस्मत रहे कि भगवान ने आज हमें बचा लिया। मैं कभी नहीं चाहूंगा कि ऐसी घटना हो। हमारे लिए दुआ कीजिए। ’ खिलाड़ी फिल्हाल अपने होटल में हैं।  बांग्लादेश के ही ओपनर तमीम इकबाल ने ट्वीट कर कहा, ‘पूरी टीम हमले में सुरक्षित है। डरावना अनुभव, कृपया हमारे लिए दुआ करें। ’

न्यूजीलैंड के पुलिस कमिश्नर माइक बुश ने बताया कि चार हमलावरों को गिरफ्तार किया गया है। इनमें से तीन पुरुष व एक महिला है। इस बीच यह बात भी सामने आई है कि एक हमलावर ऑस्ट्रेलिया का है। ऑस्ट्रेलिया के पीएम स्कॉट मॉरिसन ने भी यह बात स्वीकार की है। उन्होंने कहा, ‘ऑस्ट्रेलिया व न्यूजीलैंड सिर्फ साझेदार नहीं हैं। हम एक परिवार की तरह हैं। अपने परिवार पर हुए हमले से हम बेहद दुखी व सदमे में हैं। हम इससे मिलकर लड़ेंगे। ’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *