आज तक किसी ने नहीं तोडा सचिन तेंदुलकर की इन शतकों का रिकॉर्ड

क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) की खेली गई सबसे बड़ी पारी जिसमें उन्होने ऐसा रिकॉर्ड बनाया था जिसकी मिसाल क्रिकेट के इतिहास में नहीं मिलती है। उस कीर्तिमान को सचिन ने आज ही के दिन 7 साल पहले रचा था। और वो रिकॉर्ड था इंटरनेशनल क्रिकेट में शतकों का शतक का। जी हां, क्रिकेट के इतिहास में सचिन से पहले किसी ने सोचा भी नहीं होगी कि कोई एक बल्लेबाज शतकों का शतक लगा सकता है।

सचिन (Sachin Tendulkar) के आने के बाद भी शायद ही किसी ने सोचा होगा कि छोटे कद का शांत सा रहने वाला यह खिलाड़ी एक दिन क्रिकेट इतिहास में अपना कद इतना उपर कर लेगा जिसके बारे में लोगों के लिए सोचना भी मुश्किल हो जाएगा। सचिन के नाम वैसे तो बहुत रिकॉर्ड है लेकिन इटरनेशनल क्रिकेट में उनके 100 शतकों (Sachin Tendulkar 100th Century) का रिकार्ड अदभुत रिकॉर्ड है।

16 मार्च 2012 को एशिया कप में बांग्लादेश के खिलाफ मीरपुर में खेले गए वनडे मुकाबले में जैसे ही सचिन का शतक पूरा हुआ, क्रिकेट के इतिहास में ऐसा रिकॉर्ड हमेशा के लिए दर्ज हो गया, जिसे तोड़ना तो दूर उसके करीब भी कोई नहीं आ पाया है। यह पहला मौका था जब किसी खिलाड़ी ने इंटरनेशनल क्रिकेट में 100वां शतक पूरा किया हो।

हालांकि सचिन के लिए इस कीर्तिमान तक पहुंचने का सफर आसान नहीं रहा। सचिन के लिए यह शतक इसलिए भी बेहद खास था क्योंकि 100वें शतक तक पहुंचने के लिए उन्हें 12 मैचों का लंबा इंतजार करना पड़ा था। सचिन को अपने 100वां शतक पूरा करने के लिए 1 साल से भी ज्यादा समय का लगा। आखिरकार उनका यह इंतजार बांग्लादेश खिलाफ खत्म हुआ और सचिन ने इंटरनेशनल क्रिकेट में अपना 100वां शतक पूरा किया। यहां खास बात यह भी थी कि इंटरनेशनल क्रिकेट में 100वां शतक लगाने वाले सचिन का बांग्लादेश के खिलाफ वनडे में यह पहला शतक था।

इस शतक के साथ ही सचिन के रिकॉर्ड बुक में एक और नया रिकॉर्ड भी बन गया। अपने 100वें शतक के साथ ही सचिन आईसीसी द्वारा मान्यता प्राप्त सभी देशों के खिलाफ शतक लगाने वाले पहले खिलाड़ी बन गए थे। हालाकिं सचिन के इस ऐतिहासिक शतक के बावजूद इस मुकाबले में टीम को हार का सामना करना पड़ा। इस मैच में भारत ने पहले खेलते हुए सचिन के शतक के बदौलत 50 ओवर में 5 विकेट खोकर 289 रन बनाए। अपने घर में लक्ष्य का पीछा करने उतरी बांग्लादेशी टीम ने ऑलराउंड प्रर्दशन करते हुए 4 गेंद रहते ही 5 विकेट खोकर इस लक्ष्य को पूरा कर लिया।

बता दे कि सचिन ने अपने करियर में कुल मिलाकर 664 मैच खेले हैं। जिसमें 200 टेस्ट मैच, 463 वनडे और एक टी-20 मैच शामिल है। टेस्ट में सचिन ने 53.78 की औसत से 15921 रन बनाए जिसमें 51 शतक और 68 अर्द्धशतक शामिल है। वहीं वनडे में सचिन ने 44.83 की औसत से 18426 रन बनाए। वनडे में सचिन के नाम 49 शतक और 96 अर्द्धशतक शामिल हैं। इसके अलावा सचिन ने वनडे में एक दोहरा शतक भी लगाया है। एक टी-20 मैच में सचिन के नाम सिर्फ 10 रन हैं।

दिलचस्प बात ये है कि सचिन ने वनडे में अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की शुरुआत पाकिस्तान से की थी और साल 2012 से पाकिस्तान के खिलाफ ही उन्होने आखिरी वनडे मैच भी खेला था। जबकि इसके ठीक एक साल बाद वेस्टइंडीज के खिलाफ आखिरी टेस्ट मैच खेलकर क्रिकेट का यह जादूगर हमेशा के लिए क्रिकेट को अलविदा कह गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *