UP के मुख्य सचिव बने राजेंद्र कुमार तिवारी, कार्यवाहक के तौर पर संभाल रहे थे पदभार

आईएएस अफसर राजेंद्र कुमार तिवारी को प्रदेश का मुख्य सचिव नियुक्त किया गया है। बता दें कि वह अभी तक कार्यवाहक के तौर पर मुख्य सचिव पद की जिम्मेदारियां संभाल रहे थे। 31 अक्तूबर 2019 को अनूप चंद्र पांडेय के सेवा से रिटायर होने के बाद से राजेंद्र कुमार तिवारी ने ये पद संभाला था, अब उन्हें पूर्णकालिक मुख्य सचिव बना दिया गया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 1984 बैच के आईएएस अधिकारी अनूप चंद्र पांडेय को 30 जून 2018 को प्रदेश का मुख्य सचिव नियुक्त किया था। अनूप चंद्र पांडेय की फरवरी 2019 में सेवानिवृत्ति की तारीख आई तो सरकार ने केंद्र की सहमति लेकर छह महीने का सेवाविस्तार दे दिया। वह एक वर्ष दो महीने तक वह प्रदेश के मुख्य सचिव रहे।

सेवा विस्तार की अवधि 31 अक्तूबर 2019 को पूरा होने के साथ ही अनूप रिटायर हो गए। जिसके बाद कार्यभार आरके तिवारी को सौंपा गया था।

मुख्यमंत्री की पसंद पर खरे नहीं उतरे थे पद की दौड़ में रहे अफसर
आरके तिवारी कार्यवाहक मुख्य सचिव बनाने पर कहा जा रहा था कि राज्य में कार्यरत जिन वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों को इस पद का दावेदार माना जा रहा था, फिलहाल उनमें से कोई भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कसौटी पर खरा नहीं उतरा है।

इस पद के लिए 1984 बैच के आईएएस अधिकारी व शहरी विकास मंत्रालय में सचिव दुर्गाशंकर मिश्र तथा कृषि कल्याण मंत्रालय के सचिव संजय अग्रवाल के अलावा 1985 बैच की आईएएस व पंचायतीराज मंत्रालय में अपर सचिव शालिनी प्रसाद का नाम शामिल था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *