भारत के इस गाँव में मर्द करते हैं दुल्हन की तरह सोलह श्रृंगार, वजह जानकर रह जाओगे हैरान

आज तक अपने बस महिलाओं को ही शादी के बाद 16 श्रृंगार करते सुना और देखा होगा लेकिन एक ऐसी मंदिर है जहां पुरुषों को अपनी बीवी के लिए 16 श्रृंगार करना पड़ते हैं। केरल के कोट्टनकुलंगरा श्रीदेवी मंदिर में पूजा करने से पहले पुरुषों को औरतों की तरह सोलह श्रृंगार करना जरूरी है।

इस मंदिर में देवी की आराधना की ये परंपरा सालों से चली आ रही है। यहां कुंवारे पुरुष सोलह श्रृंगार करके मंदिर में पुजा करते हैं और माता से अच्छी नौकरी, हेल्थ, लाइफ पार्टनर और अपनी फैमिली की खुशहाली की प्रार्थना करते हैं।

माना जाता है कि इस मंदिर में देवी की मूर्ति खुद प्रकट हुई थी। यह केरल का इकलौता मंदिर है, जिसके गर्भगृह के ऊपर छत या कलश नहीं है। हर साल इस मंदिर में चाम्याविलक्कू फेस्टिवल मनाया जाता है। इसमें आदमी महिलाओं की तरह साड़ी पहनते हैं और पूरा श्रृंगार करने के बाद माता की पूजा करते हैं।

कहा जाता है कि कई सालों पहले इस जगह पर कुछ चरवाहों ने महिलाओं के कपड़े पहनकर एक पत्थर पर फूल चढ़ाया और उसकी पुजा कि थी। जिसके बाद पत्थर से दिव्य शक्ति निकलने लगी। जिसके बाद में इसे एक मंदिर का रूप दे दिया गया और तभी से यहां पुरुषों द्वारा माता कि पुजा होती आ रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *